tiktok

TikTok की मुश्किलें कम हो गई हैं। मद्रास हाईकोर्ट ने TikTok पर लगे बैन को हटा लिया है। बैन के बावजूद भी इस ऐप को Google Play Store और Apple App Store पर उपलब्ध नहीं कराया गया है। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के कुछ सूत्रों की मानें तो इन टेक्नोलॉजी कंपनियों को कोर्ट के निर्देश मिलने के बाद ही इस ऐप को ऐप स्टोर्स पर उपलब्ध कराया जाएगा। आपको बता दें कि IT मंत्रालय ने Google और Apple को 3 अप्रैल को मद्रास हाईकोर्ट द्वारा लगाए गए बैन के बाद TikTok को बैन करने के लिए कहा था।

आधिकारिक निर्देश प्राप्त होने के बाद प्ले स्टोर्स पर ऐप होगी उपलब्ध:

इस केस को वकील मुथुकुमार ने फाइल किया था। मदुराई बेंच ने ऐप पर लगे बैन को खारीज कर दिया है। कोर्ट की शर्तों के मुताबिक, TikTok पर अश्लील वीडियो अपलोड नहीं किए जाएंगे। Google और Apple ने फिलहाल कोई आधिकारिक बयान साझा नहीं किया है। ये दोनों कंपनियों केवल तब ही इस ऐप से प्रतिबंध हाटएंगी जब उन्हें बैन को हटाने का आधिकारिक निर्देश प्राप्त होगा। आपको बता दें कि TikTok चीनी कंपनी ByteDance के अधीन है। इसके भारत में 120 मिलियन मासिक एक्टिव यूजर्स हैं।

TikTok ने किया खुद का बचाव:

TikTok ने अपने प्लेटफॉर्म पर लगे बैन को लेकर कोर्ट में अपना बचाव किया है। कंपनी ने कहा कि बिना उसकी बात सुने हुए ऐप पर बैन लगा दिया गया है। कंपनी ने दावा किया है कि उसके प्लेटफॉर्म पर किसी भी तरह का गलत या अश्लील कंटेंट प्रमोट नहीं किया जाएगा। उसके पास एक ऐसी तकनीक है जो किसी भी तरह के गलत या अश्लील कंटेंट को ऑनलाइन जाने से रोकती है। TikTok इस तकनीक को कम्यूनिटी गाइडलाइन्स को बनाए रखने के लिए इस्तेमाल कर रही है। इसके अलावा कंपनी के वकील ने कहा कि ऐसा नहीं हो सकता है कि कंपनी संविधान के मानदंडों का पालन नहीं कर रही है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here