iphone-battery
  • 2017 में कंपनी थर्ड पार्टी डिस्प्ले पॉलिसी लेकर आई थी
  • अन्य कंपोनेंट की रिपेयरिंग के लिए सामान्य प्रक्रिया से गुजरना होगा

टेक्नोलॉजी के लेटेस्ट न्यूज जानने के लिए यह पेज लाइक और शेयर करे :- https://fb.com/TechGuruWeb

बैटरी बदलवाने के लिए एपल यूजर्स को अब लंबा इंतजार नहीं करना होगा। एपल ने हाल ही में अपनी रिपेयरिंग पॉलिसी में बदलाव किया है। कंपनी ने जीनियस  बार और एपल के अधिकृत सर्विस प्रोवाइडर्स (AASPs) को थर्ड पार्टी बैटरी के साथ आईफोन रिपेयरिंग करने की अनुमति दी है। हालांकि इससे पहले एपल ऑफ्टर मार्केट बैटरी के इस्तेमाल करने से इंकार करता आया है।

इंटरनेट पर लीक हुए एक डॉक्यूमेंट के मुताबिक, जीनियस बार और एपल के अधिकृत सर्विस प्रोवाइडर ओरिजनल एपल बैटरी को थर्ड पार्टी बैटरी से रिप्लेस कर सकेंगे, जिसके एवज में ग्राहक को स्टैंडर्ड फीस का भुगतान करना होगा। हालांकि रिपेयरिंग शुरू करने से पहले जीनियस बार को बैटरी 60 प्रतिशत तक चार्ज करना होगा।

सिर्फ बैटरी तक ही सीमित
एपल और जीनियस बार के बीच हुआ यह करार सिर्फ बैटरी संबंधित समस्या तक ही सीमित है। इसके अलावा डिस्प्ले, लॉजिक बोर्ड, माइक्रोफोन या अन्य किसी पार्ट्स में दिक्कत आने पर ग्राहकों को सामान्य सर्विसिंग प्रोसेस से होकर ही गुजरना पड़ेगा।

रिपोर्ट में आगे

अगर फोन का बैटरी टैब टूट जाता है, गुम हो जाता है या अत्यधिक चिपकने वाला हो जाता है, तो जीनियस बार और एपल के अधिकृत सर्विस प्रोवाइडर्स पूरा फोन को भी रिप्लेस कर सकेंगे। जिसके एवज में ग्राहक से सिर्फ बैटरी बदलने का पैसे ही लिया जाएंगा। इस नई पॉलिसी का लाभ दुनियाभर के सभी आईफोन यूजर्स को मिलेगा।

2017 में आई थी थर्ड पार्टी डिस्प्ले पॉलिसी
आमतौर पर एपल कंपनी थर्ड पार्टी बैटरी के साथ फोन की रिपेयरिंग करने से मना करता थी, हालांकि अभी भी लॉजिक बोर्ड, माइक्रोफोन, लाइटनिंग कनेक्टर, हेडफोन जैक, वॉल्यूम बटन जैसे अन्य कॉम्पोनेंट की रिपेयरिंग के लिए कंपनी पर ही निर्भर रहना होगा। साल 2017 में कंपनी ने थर्ड पार्टी डिस्प्ले के साथ आईफोन की रिपेयरिंग पॉलिसी को आसान बनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here