facebook

Facebook ने मंगलवार को बताया कि उसने लाखों यूजर्स के पासवर्ड लीक होने वाली खामी को सुधार लिया है। Facebook में आई इस खामी की वजह से कंपनी के 20 हजार से ज्यादा कर्मचारी लाखों यूजर्स के पासवर्ड प्लेन टेक्स्ट फॉर्मेट में देख सकते थे। Facebook में यह खामी इंटरनल सिस्टम में आई थी जिसकी वजह से लाखों यूजर्स के पासवर्ड रीडेबल फॉर्मेट में स्टोर हो गए थे।

टेक्नोलॉजी के लेटेस्ट न्यूज जानने के लिए यह पेज लाइक और शेयर करे 
For the latest 
tech news and tips and tricks, follow TechGuruWeb on TwitterFacebookInstagram and subscribe to our YouTube channel.

Facebook की रिपोर्ट के मुताबिक, इस खामी को सबसे पहले 2012 में चिन्हित किया गया था। इस खामी को साइबर सिक्युरिटी ब्लॉग KrebsOnSecurity द्वारा सबसे पहले रिपोर्ट किया गया था। कंपनी के मुताबिक, किसी भी यूजर का पासवर्ड Facebook के कर्मचारियों के अलावा कोई बाहरी यूजर्स नहीं देख सकता था। Facebook ने यह भी बताया कि हमें अब तक ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है जिसमें कर्मचारियों ने किसी भी यूजर को पासवर्ड को गलत तरीके से एक्सेस किया है।

KrebsOnSecurity ने Facebook के एक वरिष्ठ कर्माचारी के हवाले से बताया कि कंपनी की इंटरनल इनवेस्टिगेशन के जरिए पता चला कि करीब 200 मिलियन से 600 मिलियन Facebook यूजर्स के पासवर्ड प्लेन टेक्स्ट की फॉर्म में स्टोर किए गए थे जो कि कंपनी के कर्मचारियों एक्सेस कर सकते थे।

Facebook ने बताया कि हमने इस खामी को जनवरी में एक रूटीन सिक्युरिटी रिव्यू के बारे में पता लगाया। इस खामी में ज्यादातर Facebook लाइट वर्जन का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स शामिल थे। Facebook के इस लाइट ऐप को ज्यादातर वो यूजर्स इस्तेमाल करते हैं जिसके पास धीमी इंटरनेट कनेक्टिविटी मिलती है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने यह भी बताया कि हम लाखों Facebook लाइट यूजर्स को इस परेशानी के बारे में आगाह करेंगे। जबकि, अन्य Facebook और इंस्टाग्राम यूजर्स को भी इस गड़बड़ी के बारे में सूचित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here